इंद्रजाल 344 - पक्षी मानवों की घाटी (मेन्ड्रेक) Indrajal 344 - Pakshi Maanvon Ki Ghati (Mandrake)

प्रस्तुत है इंद्रजाल कॉमिक्स से जादूगर  मेनड्रेक  की शानदार गाथा। 

मेनड्रेक की बहन मशहूर शोधक लेनोर किसी अज्ञात युग के खंडहरों के रहस्यों की खोज में जाती है और लापता हो जाती है। खोज करने पर मेंड्रेक को एक नयी ही सभ्यता का पता चलता है जहां बहुमूल्य रत्न पन्ना किसी मामूली चट्टान की तरह बिखरे पड़े थे। 

आगे क्या हुआ इसके लिए पूरी कथा डाउन लोड करें और पढ़ें  - 

डाउन लोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें  (HQ SCAN 36 MBs)

Coming Very Soon from My Side



2 comments:

Rakesh said...

One of the original stories...great one..my favorite. When Mandrake is not fighting Aastank...Thanks Anupam for this post.

quantum jaat said...

Quantum theory padha tha utna maza nhi aaya jitna maza ki ab iss kahani ko padh ke aaya

Post a Comment

 

Indrajal Online Copyright © 2007-2017 WoodMag is Designed by Ipietoon